100+ Best Sad shayari good morning shayari, quote with image

Sad shayari good morning quote with image




तू मुझसे दूर है इस बात का शिकवा नही,
गिला तो इस बात का है
की तू किसी और के करीब है

कोई था हमारी जिंदगी में जिसे हमारे
चुप रहने से भी कभी फर्क पड़ता था,
फिर न जाने अचानक क्या हुआ
आज रोने से भी फर्क नही पड़ता।

जो जख्म दिखते नही हैं,
वो दर्द बहुत देते हैं

तेरा नाम सुन कर अक्सर गुस्से में भी
मुस्कुरा जाता हूँ तेरे नाम से
इतनी मोहब्बत है तो सोच
तुझसे कितनी मोहब्बत होगी

जो लोग अंदर से मर जाते हैं न,
तो फिर वो लोग दूसरों को जीना सिखाते हैं

हमने तो वो खोया जो
कभी हमारा था ही नही,
लेकिन तूने वो खोया जो
कभी सिर्फ तेरा था

टूटे हुए दिल भी धड़कतें हैं उम्र भर चाहें किसी की याद में चाहे किसी की फरियाद में।

न रहा करो उदास किसी वेबफा की याद में,
वो खुश है अपनी दुनिया में तुम्हारी दुनिया उजाड़ के।


तेरे बाद हमारा हम दर्द कौन बनेगा,
हमने तो सब छोड़ दिया तुझे पाने की जिद्द में।

इतना दर्द तो मौत भी नही देती
जितनी दर्द तेरी ख़ामोशी दे रही है।


एक बात हमेशा याद रखना दुनिया में तुम्हे मेरे जैसे बहुत मिलेंगे,
लेकिन उनमे तुम्हे हम नही मिलेंगे।

मुझको छोड़ने की बजह तो बता जाते,
तुम मुझसे बेज़ार थे या हम जैसे हज़ार थे।

भीड़ में खड़े होना मेरा मक़सद नहीं है ज़नाब,
बल्कि मुझे वो बनना है जिसके लिए भीड़ खड़ी है।

हम दुश्मनों को भी बड़ी शानदार सज़ा देते हैं,
हाथ नहीं उठाते बस नज़रों से गिरा देते हैं


माचिस तो यूँ ही बदनाम है हुजुर,
हमारे तेवर तो आज भी आग लगाते है

जख़्म इतना गहरा हैं इज़हार क्या करें।
हम ख़ुद निशां बन गये ओरो का क्या करें।
मर गए हम मगर खुली रही आँखे हमरी।
क्योंकि हमारी आँखों को उनका इंतेज़ार हैं।

दर्द को दर्द अब होने लगा है।
दर्द अपने गम पे खुद रोने लगा है।
अब हमें दर्द से दर्द नही लगेगा।
क्योंकि दर्द हमको छू कर खुद सोने लगा है।

प्यार में मौत से डरता कोन है ।
प्यार हो जाता है करता कोन है।
आप जैसे यार पर हम तो क्या सारी दुनियां फिदा है।
लेकिन हमारी तरह आप पर मरता कौन है

उदास नज़रो में ख़्वाब मिलेंगे।
कभी काटे तो कभी गुलाब मिलेंगे।
मेरे दिल की किताब को मेरी नज़रो से पढ़ कर तो देखो।
कही आपकी यादे तो कही आप मिलेंगे ।

ना समझो कि हम आपको भुला सकेंगे।
आप नही जानते की दिल मे छुपा कर रखेंगे।
देख ना ले आपको कोई हमारी आँखों मे दूर से।
इसी लिए हम पालखे झुका के रखेंगे।

चाहा ना उसने मुझे बस देखता रहा
मेरी ज़िंदगी से वो इस तरह खेलता रहा
ना उतरा कभी मेरी ज़िंदगी की झील में
बस किनारे पर बैठा पथर फेंकता रहा ।।


वो तेरे खत .. तेरी तस्वीर.. और सूखे फूल
उदासी करती हे मुझको.. निशानिया तेरी






और नया पुराने